38.1 C
Ratlām
Monday, May 20, 2024

रेल मैदान पर अवैध कमाई का खेल : अवैध क्रिकेट कोचिंग के अलावा टी-10 क्रिकेट लीग की तैयारियां, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से राशि वसूल रेलवे को लगा रहे चूना 

रेलवे वेलफेयर के जिम्मेदारों का आर्थिक अनियमित्ता का खेल बदस्तूर जारी

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।  
रतलाम रेल मंडल मुख्यालय के अधिकारियों की सांठगांठ से खेल मैदानों पर अवैध तौर पर व्यवसायिक उपयोग का क्रम जारी है। जूनियर रेलवे इंस्टीट्यूट खेल मैदान पर अनुमति बगैर निजी क्रिकेट कोचिंग का अवैध धंधा 10 वर्षों से अधिक समय से बदस्तूर है तो दूसरी तरफ रेलवे खेल मैदान पर 1 जून 2023 से आरपीएल टी-10 क्रिकेट लीग स्पर्धा शुरू होने वाली है। खास बात यह है कि आईपीएल की तर्ज पर स्पर्धा के लिए ऑनलाइन लिंक से खिलाडिय़ों का रजिस्ट्रेशन कर निजी खातों में राशि वसूली जा रही है।


जूनियर रेलवे इंस्टीट्यूट में कर्मचारी लोकपाल क्रिकेट कोचिंग की संलिप्ता जगजाहिर है। बड़े पैमाने पर रेल कर्मचारी प्रतिवर्ष लाखों रुपए की अवैध कमाई कर रेल प्रशासन को सीधे-सीधे चूना लगा रहे हैं। गंभीर मुद्दा यह है कि रेलवे खेलकूद संघ के सचिव एवं वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक प्रवीण कुमार तिवारी प्राइवेट कोचिंग सेंटर संचालित होने की जानकारी से अनभिज्ञता जाहिर कर कई सवालों को जन्म दे चुके हैं। सांठगांठ के इस खेल की पुष्टि अब 1 जून 2023 को रेलवे खेल मैदान पर होने वाली टी-10 क्रिकेट लीग की तैयारियों ने कर दी है। इस पूरे खेल में वहीं रेलकर्मी लोकपाल की भूमिका है जो कि अनुमति बगैर पिछले 10 वर्षों से जूनियर रेलवे इंस्टीट्यूट में क्रिकेट कोचिंग के नाम पर प्रतिमाह 150 खिलाडिय़ों से प्रति बच्चे के मान से 500 रुपए वसूल रहा है। मुद्दे पर रेलवे खेलकूद संघ सचिव एवं वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक प्रवीण कुमार तिवारी के मोबाइल नंबर 9752492900 पर कई मर्तबा संपर्क किया, लेकिन कॉल रिसीव नहीं किया। वहीं रतलाम रेल मंडल जनसंपर्क अधिकारी खेमराज मीणा ने इस बारे में अनभिज्ञता जताई।

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पर कई गंभीर सवाल
रेल खेल मैदान पर 1 जून 2023 से होने वाली टी-10 क्रिकेट स्पर्धा के लिए खिलाडिय़ों का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। रजिस्ट्रेशन के नाम पर रतलाम निवासी खिलाड़ी से 500 रुपए और जिले के बाहरी खिलाड़ी से 700 रुपए वसूला जा रहा है। सवाल यह है कि खिलाडिय़ों की रजिस्ट्रेशन के नाम राशि रेलवे फंड में जमा न होकर सीधे निजी खातों में कैसे पहुंच रही? उदाहरण के तौर पर अगर स्पर्धा में 300 खिलाड़ी रजिस्ट्रेशन करवाते हैं तो औसतन 500 रुपए प्रति खिलाड़ी के मान से कुल डेढ़ लाख रुपए निजी खातों में जमा होगा। सवाल यह भी है कि स्पर्धा में सिर्फ 8 टीमें बनाई जा रही तो 120 खिलाड़ी ही हिस्सा ले सकेंगे, शेष 180 खिलाडिय़ों के रजिस्ट्रेशन की राशि कौन लौटाएगा? 

फोटो – फाइल

KK Sharma
KK Sharmahttp://www.vandematramnews.com
वर्ष - 2005 से निरंतर पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय। विगत 17 वर्ष में सहारा समय, अग्निबाण, सिंघम टाइम्स, नवभारत, राज एक्सप्रेस, दैनिक भास्कर, नईदुनिया (जागरण) सहित अन्य समाचार पत्र और पत्रिकाओं में विभिन्न दायित्वों का निर्वहन किया। पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय रहते हुए वर्तमान में समाचार पोर्टल वंदेमातरम् न्यूज में संपादक की भूमिका का दायित्व। वर्तमान में रतलाम प्रेस क्लब में कार्यकारिणी सदस्य। Contact : +91-98270 82998 Email : kkant7382@gmail.com
Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Copyright Content by VM Media Network