भूमाफिया को राहत : जयंतसेन धाम के पीछे 100 बीघा में काला खेल, छोटी-मोटी सड़के उखाड़ने वाला प्रशासन मेसर्स पार्श्वनाथ पर मौन

भूमाफिया को राहत : जयंतसेन धाम के पीछे 100 बीघा में काला खेल, छोटी-मोटी सड़के उखाड़ने वाला प्रशासन मेसर्स पार्श्वनाथ पर मौन

रतलाम, वंदेमातरम् न्यूज।


रतलाम में सागोद रोड स्थित जयंतसेन धाम के पीछे अवैध कॉटेजनुमा कॉलोनी में रसूखदारों ने अधिकारियों की आंखों में धूल झोंक नियम विपरित 3.5 किलोमीटर सीमेंट कांक्रीट (सीसी) सडक़ का जाल फैला दिया। रतलाम शहर सहित जिले में ताबड़तोड़ अवैध कॉलोनी काटने वालो के खिलाफ कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने खूब वाहवाही लूटी। अब इस मामले में भूमाफियाओं को प्रशासन का संरक्षण मिलने की सुगबुगाहट तेज हो गई। कल गुरुवार दोपहर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने वीसी में सख़्त लहजे में भूमाफियाओं पर कार्रवाई को लेकर जिला प्रशासन को चेताया। लेकिन ढ़ाई माह बाद भी शहर के सागोद रोड़ स्थित जयंतसेन धाम के पीछे 100 बीघा में अवैध काला खेल करने वाले मेसर्स पार्श्वनाथ डेवेलपर्स और उसके भागीदार कार्रवाई से अछूते हैं। सूत्रों की माने तो जिले के विधायक के यहां पुत्र विवाह में आये मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को इस बड़े खेल के बारे में पूर्व मंत्री व विधायक बता चुके हैं। जिसके बाद भी कार्रवाई के नाम पर ढाई माह से केवल कागज देखे जा रहे है।
प्रशासन जयंतसेन धाम के पीछे बनाई सड़क को तोड़ने के लिए 3 बार आदेश निकले मगर दबाव के चलते बार-बार बदलाव के चलते अब तक कार्रवाई नहीं हुई। नगर निगम और बिबड़ोद पंचायत के जिम्मेदार मामले से दूरी बनाए हुए है। मामला उजागर होने के बाद से भूमाफियाओ की प्लानिंग खटाई में पड़ चुकी है। शहर के प्रोपर्टी ब्रोकरो के अनुसार कॉलोनी में प्लाट के कई सौदे केंसल हो गए हैं वहीं अब सौदे होना भी बन्द हो गए है। जिससे डेवेलपर्स व भागीदारों के रुपये अटके पड़े है।

मंदिर की आड़ में हुआ खेल :

जमीन के सौदागरो ने काटे गए प्लाट के भाव नहीं मिलने से सागोद रोड स्थित जैन समाज के प्रसिद्ध तीर्थ जयंतसेन धाम के निर्माण में 21 हजार 500 स्क्वेयर फीट जमीन देकर रसूखदार भूमाफियाओं ने 100 बीघा सिंचिंत कृषिभूमि पर अवैध कॉटेजनुमा कॉलोनी का प्रवेशमार्ग बनाकर शातिराना खेल खेला। अक्टूबर से नवम्बर तक मे 3 बार नोटिस के जवाब में भूमाफिया सड़क बनाने की अनुमति को छोड़कर केवल डायवर्शन व धारा 59 में जमा की गई फीस के कागजात ही जिम्मेदारों को दिखा पाए। नियम विपरीत बड़े-बड़े भूखंड काटकर शहर के नामचीन लोगो का इन्वेस्टमेंट करवाया गया। भूमाफियाओं के जाल में फंस चुके खरीदारों में इस समय हडक़ंप व्याप्त है। वहीं भूमाफिया कार्रवाई से बचने के लिए उपाय तलाशने में जुटे हुए है। इस खेल में मेसर्स पार्श्वनाथ डेवलपर्स और पार्टनर पवन पिता पारसमल पिरोदिया, किरण पति कमल पिरोदिया, राजेश पिता मोतीलाल चौहान, महेंद्र पिता बंसतीलाल पिरोदिया, मयंक पिता मणिलाल गोटा सहित अन्य प्रमुख रूप से शामिल हैं।

फोटो : जयंतसेन धाम के पीछे अवैध भूखंडों पर रसूखदार कर रहे नियम विपरीत बंगलों का निर्माण।

Admin

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.